कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय,कब्ज क्या है।

कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय ,कब्ज क्या है ,कब्ज के लक्षण ,कब्ज के उपचार ,कब्ज होने के नुकसान –नीचे लेख के माध्यम से आपको सही जानकारी देने का प्रयास किया गया है। 

आमतौर पर पेट का ठीक से साफ़ न होना या ठीक से मलत्याग न होना ही कब्ज कहलाता है कब्ज होने पर व्यक्ति को मलत्याग करने में काफी समस्या होती है यह आमतौर पर ख़राब खान पान एवं ख़राब दिनचर्या से होता है कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय भी बहुत सारे है  तो कब्ज एक आम समस्या जो जो आज कल हर 5 में से 2 लोगो में पायी जाती है काम की व्यस्तता के कारण लोग अपने खान पान पर ठीक से ध्यान नहीं देते है कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय

जिससे यह समस्या उत्त्पन्न होती है कब्ज होने पर स्टूल पास करने में कभी कभी दर्द का सामना भी करना पड़ता जो काफी असहनीय होता है अतः कभी कभी 1 या 2 दिनों तक मलत्याग नहीं होता है और मल काफी कठोर हो जाता है।जिससे परेशान होकर कुछ लोग कब्ज क्या है ,कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय उपाय इंटरनेट एवं किताबों में ढूढ़ते है हमने इस लेख के माध्यम से आपको उचित एवं उपयोगी जानकारी देने का प्रयत्न किया है

कब्ज के प्रकार –

लक्षण के आधार पर मुख्यतः कब्ज 2 प्रकार की होती है

1 . पुरानी कब्ज -पुरानी कब्ज में मलत्याग तो होता पर बहुत ही कम मात्रा में इसमें मल काफी कड़ा हो जाता है एवं मलत्याग करते समय काफी परेशानी होती है पुरानी कब्ज में मलत्याग के बाद कभी संतुष्टि नहीं होती है और बार बार मलत्याग करने जैसा महसूस होता रहता है

2 . गंभीर कब्ज -गंभीर कब्ज काफी खतरनाक होती है गंभीर कब्ज में मल निकलता ही नहीं है यह इतनी ख़तरनाक है की इस प्रकार में मल से साथ साथ गैस बे नहीं पास होती जिससे पीड़ित का पेट फूल जाता है और उसे गंभीर समस्या का सामना करना पड़ता है ऐसे में आपको तुरंत किसी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए क्योकि ज्यादा समय तक मल त्याग म होने कोई आम समस्या नहीं है यह काफी घातक हो सकता है

कब्ज के लक्षण

कब्ज होने पर मरीज में कई प्रकार के लक्षण हो सकते है पर कुछ लक्षण आमतौर पर सभी पीड़ितों में होते है जो इस प्रकार है –

1 .पेट में भारीपन एवं जलन होना

2 .भूख न लगना ,मितली एवं उल्टी जैसे महसूस होना

3 .मलत्याग करने में परेशानी एवं कई दिनों तक मलत्याग न होना

4 .छाती में जलन होना

5 .पैरो में दर्द होना , कुछ लोगो में पेडू में भी दर्द होता है

6 .बहुत ही कड़ा स्टूल पास होना एवं स्टूल पास करते समय गुदा द्वार से खून आना

कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय-

वैसे तो कब्ज का इलाज कई तरह से संभव है परन्तु कब्ज ठीक करने का घरेलु उपाय काफी कारगर सिद्ध होता इसलिए अधिकांशतः लोग इंटरनेट एवं किताबों पर कब्ज क्या है ,कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय ढूंढ़ते रहते है आइये हम आपको कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय बताते है जो इस प्रकार है।

1 .जीरा का पानी – कब्ज एवं गैस प्रॉब्लम से निजात पाने के लिए जीरा पानी काफी कारगर घरेलू उपाय है रोजाना सुबह उठने के तुरंत बाद 2 गिलास पानी में एक चम्मच खड़ा जीरा डाल कर उबाल ले फिर गुनगुना हो जाने पर इसे छान कर पी ले यदि संभव हो तो उबले जीरे को भी  चबा चबा कर खा ले ये आपको कब्ज एवं पेट संबधी सभी समस्याओ को जल्दी दूर करेगा।

2 .नीम्बू का पानी –वैसे तो नीम्बू हमारे किचेन में नियमित उपयोग किया जाता है इसमें विटामिन c भरपूर मात्रा में पाया जाती  है नीम्बू का ज्यादा प्रयोग हम स्किन केयर या फिर सरबत में करते है किन्तु यह कब्ज को ठीक करने में भी हमारी मदद करता है इसका प्रयोग हम रोजाना सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में एक कटा नीम्बू एवं स्वादानुसार हम शहद का भी प्रयोग कर सकते है।

3 .पपीता का प्रयोग –कब्ज में पपीता रामबाण साबित होता है क्योकि पपीतें में कई प्रकार के औषधीय गुण पायें जाते है जो हमरे भोजन को पचाने में हमारी मदद करते है पपीते में विटामिन b भरपूर मात्रा में पायी जाती है जो बॉडी को डिटॉक्स करने में हमारी मदद करती है कब्ज की समस्या होने पर रोजाना सुबह खाली पेट नास्ते के रूप में पपीते का सेवन करे।

4 .किशमिश का सेवन –कब्ज में किशमिश काना हमारे लिए काफी मददगार साबित होता है किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट ,कई विटामिन एवं मिनरल्स पाए जाते है जो रोगो से लड़ने में हमारी मदद करते है किशमिश बॉडी की कमजोरी को दूर करती है एवं हमरे लिवर को मजबूत बनती है जब हमारा लिवर ठीक से कम् करेगा तो कब्ज जैसी समस्या होंगीं ही नहीं। कब्ज से जल्दी राहत के लिए आप शाम को सोते समय किशमिश को पानी में भिगों दे सुबह खाली पेट चबा चबा कर खा ले।

5 .अमरुद का सेवन –अमरुद एक स्वादिस्ट एवं मौसमी फल है इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन c पायी जाती है जो हमारे पेट के लिए काफी फायदेमंद है अमरुद को काले नमक के साथ खाने से पाचन तंत्र मजबूत बनता है अमरुद को हम किसी भी समय खा सकते है कब्ज के रोगियों को सुबह खाली पेट अमरुद को काले नमक के साथ खाना चाहिए।

6 .बेल का सेवन –कब्ज में बेल बहुत ही लाभकारी एवं फायदेमंद है यदि आपका कई दिनों से स्टूल पास नहीं हो रहा है और आप गैस पेट दर्द जैसी समस्या से जूझ रहे है तो तुरंत आपको बेल का सेवन करना चाहिए आप बेल को ऐसे भी खा सकते है परन्तु यदि आप इसका जूस पीते है तो तुरंत आपका मलत्याग होगा और नियमित सेवन से कब्ज जैसी अप्रिय समस्या से आप बहुत जल्द निजात पा सकते है बेल में खाने को पचाने एवं लिवर को फिट रखने जैसे गुण पाए जाते है।

7 .सौंफ का सेवन –सौंफ में पाए जाने वाले उड़नशील तेल पाचन क्रिया में सहायक होते है सौंफ भारतीय किचेन में मसाले के रूप में प्रयोग की जाती है क्योकि इसके स्वास्थ सम्बन्धी अनगिनत फायदे है कब्ज में सौंफ का प्रयोग रात को सोते समय भुनी हुई सौंफ एक गिलास गरम पानी के साथ पीने से सुबह आसानी से मलत्याग हो जाता है एवं धीरे धीरे कब्ज ठीक हो जाती है।

8 .चने का सेवन –कब्ज में चना बहुत फायदेमंद होता है असल में चना में लाभकारी पोषक तत्व एवं विटामिन मिनरल्स पाए जाते है अधिकांश भारतीय चने का प्रयोग किसी न किसी रूप में करते है दरसअल कब्ज होने पर चने का प्रयोग हम दो प्रकार से कर सकते है पहला हम चने को भिगोकर सुबह खाली पेट इसका सेवन कर सकते है दूसरा भुने हुए चने में काला नमक मिलाकर किसी भी समय इसका प्रयोग कर सकते है दोनों तरह से यह हमारे पेट एवं पाचन तंत्र के लिए लाभकारी है।

9 .अजवाइन का सेवन –अजवाइन पेट सम्बन्धी बिमारियों के लिए रामबाण इलाज है अजवाइन के नियमित सेवन से पेट दर्द, गैस प्रॉब्लम ,खट्टी डकार एवं उल्टी दस्त जैसी बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है कब्ज में इसका सेवन बहुत लाभकारी सिद्ध होता है अजवाइन काला नमक और अदरक को  पीसकर चूरन बना ले इसे खाने के बाद एक चम्मच खाये इससे कब्ज में राहत मिलेगी।

10 .त्रिफला चूर्ण का सेवन –त्रिफला में पेट एवं आंत को स्वस्थ रखने के कई गुण पाएं जाते है त्रिफला आंतो की सफाई कर हमारे शरीर को स्वस्थ रखता है यह कब्ज में बहुत लाभकारी है कब्ज से पीड़ित लोगों को त्रिफला का सेवन रात को सोने से पहले एक गिलास गरम पानी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर लेना चाहिए इस प्रयोग से पुरानी से पुरानी कब्ज से आपको मुक्ति मिल सकती है गंभीर कब्ज होने पर इस प्रयोग को आप सुबह भी कर सकते है।

कब्ज होने के कारण –

सामान्यतः कब्ज होने का कोई एक कारण नहीं होता इसके कई भिन्न भिन्न कारण हो सकते है लेकिन कुछ कारण इस प्रकार है –

कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय

1 .खराब दिनचर्या –खराब दिनचर्या भी कब्ज होने का कारन हो सकती है आज कल की व्यस्त जिंदगी में लोगो को सिर्फ नौकरी और पैसे की परवाह है किन्तु इस सबके पीछे भागते-भागते लोग अपने शरीर का ध्यान नहीं रख पाते और नई बीमारियों को जन्म देते है कब्ज को बीमारी नहीं ये हमारे खराब रुटीन से उत्पन्न एक विकार है दिनभर धूल धुए में रहना ,रात को लेट सोना सुबह देर से उठना कब्ज होने के ये मुख्य कारणों में से एक है

2 .खराब खानपान –जब हमारी दिनचर्या ठीक नहीं होती है तो ज्यातर हमारे कोई भी काम ठीक से नहीं होते है न ही हम समय से उठते है और न ही ठीक से कुछ खाते है जो दिनप्रतिदिन हमारे शरीर को कमजोर बना देता है और कब्ज जैसी बिमारियों को पनपने का मौका मिल जाता है जब हम ठीक से संतुलित आहार नहीं लेंगे तो हमारा पाचन तंत्र ठीक नहीं होगा जो कब्ज को और मजबूत बनता है दिनभर हम बाहर का जंक फ़ूड खाते है जो हमारे पाचन को कमजोर बनता है और कब्ज ,गैस एवं माइग्रेन जैसी बीमारिया पनपती है।

3 .अधिक तनाव –आज कल की फास्ट दुनिया में लोगो ने पैसे ,नौकरी आदि को सबकुछ मान लिया स्वास्थ्य पर किसी का ध्यान नहीं है जो पैसे के साथ साथ महत्वपूर्ण है ज्यादातर लोगो को ये सब न मिलने पर वो मानसिक तनाव लेते है जो कब्ज ,माइग्रेन जैसी असहनीय बीमारियों को जन्म देते है अच्छे स्वास्थ्य के बिना आप कुछ नहीं है जब तक आप मानसिक एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ नहीं है तब तक आपके लिए ये सब बेकार है।

4 .पानी की कमी –पानी हमारी बॉडी को डिटॉक्स कर हायड्रेट रखता है पानी हमारे शरीर का 90 प्रतिशत होता है हम भोजन के बिना एक महीने जीवित रह सकते है किन्तु पानी के बिना हम एक सप्ताह भी नहीं। पानी की कमी से हमारा शरीर कमजोर हो जाता है एवं कई प्रकार की बीमारियां हो जाती है जिसमे कब्ज भी शामिल है। पानी की कमी से मलत्याग में बहुत दिक्क़ते आती है जो कंब्ज़ को बढ़ती है।

कब्ज की जांच कैसे कराये –

कब्ज को चेक कराने के कई आसान तरीके है जो इस प्रकार है –

1 .खून की जांच –खून की जांच से डॉक्टर आपके पाचन एवं आंत की गड़बड़ी को भांप लेते है जिससे कब्ज का पता चलता है।

2 .यूरिन टेस्ट –यूरिन टेस्ट से कब्ज का पता लगाया जा सकता है क्योकि हमारी यूरिन में पेट एवं आंतो सम्बन्धी लक्षण होते है।

3 .स्टूल टेस्ट –स्टूल चेकअप से कब्ज का एवं कब्ज के प्रकारों का भी पता लगाया जा सकता है।

4 .एक्सरे जांच –कई बार डॉक्टर कब्ज के सटीक लक्षणों का पता लगाने के लिए एक्सरे भी करते है इसमें पेट एवं आंतों के अंधरूनी कारणों का पता चल जाता है।

कब्ज का इलाज किन किन प्रकारों से संभव है –

1 .घरेलू नुस्खे अपनाना –यह काफी कारगर और फायदेमंद उपाय है कुछ ऊपर दिए गए घरेलु नुस्खों को अपनाकर हम कब्ज को हमेशा के लिए ठीक कर सकते है। घरेलु नुस्खों के कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है इन्हे कोई भी कर सकता है।

2 .दवाई खाकर –कब्ज को ठीक करने में आप दवाइयों का सहारा भी ले सकती है इसमें आप आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक एवं एलोपैथी आदि प्रकार की दवाइयां ले सकते है पर कब्ज जैसी दिक्क्तों में आपको पहले आयुर्वेद का ही सहारा लेना चाहिए ये हमारे शरीर को ज्यादा हार्म नहीं पहुँचातीं है।

3 .सर्जरी कराकर –कुछ मामलों में कब्ज काफी गंभीर हो जाता है और ऐसे परिस्थितियों में घरेलु नुस्खे एवं दवाइयां जल्दी राहत नहीं दिला पाती है तो डॉक्टर आपको सर्जरी की सलाह देते है इसमें कोलोन को निकाल दिया जाता है ताकि मलत्याग आसानी से हो सके।

कब्ज होने से कैसे बचे –

कब्ज भी अन्य बिमारियों की तरह पहले नार्मल लक्षण होते किन्तु इसमें ध्यान न देने से यह गंभीर हो जाती है यही हम शुरुआती कुछ लक्षणों में ही इसे रोक ले तो यह हमे रोगग्रस्त नहीं करेगी किन्तु जीवन की व्यस्तता के कारण कभी कभी हम जानबूझ के अनसुना क्र देते है जो आगे चलकर बहुत बड़ी समस्या बन जाती है कुछ आसान उपाय जिनको अपनाकर हम कब्ज को आने से रोक सकते है –

1 .हेल्थी डाइट एवं संतुलित आहार लेकर कब्ज को रोका जा सकता है।

2. दिन में 7 से 8 ग्लास पानी पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा है इसे मेन्टेन रखकर हम कब्ज को रोक सकते है।

3 .तनाव को कम करके हम कब्ज को रोक सकते है क्योकि तनाव कब्ज को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है।

4 .एक्ससाइज़ करके हम कब्ज के साथ साथ आने वाली कई बिमारियों को रोककर अपने शरीर को मजबूत व सुडौल बना सकते है।

5 .टॉयलेट और बाथरूम को अधिक समय तक न रोककर हम कब्ज जैसे बिमारियों को आने से रोक सकते है।

6 .सुबह गर्म पानी पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है इस प्रयोग को अपने डेली रूटीन में शामिल करने हम कब्ज एवं अन्य बिमारियों को आने से रोक सकते है।

कब्ज होने के नुकसान –

कब्ज के रोगियों को तो वैसे भी प्रतिदिन कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है किन्तु अगर आप सही समय पर इलाज न करवाएं तो इससे कई और समस्याएं जन्म ले लेती है जो आगे चलकर काफी खतरनाक भी हो सकती है जो इस प्रकार है –

1 .गुदाद्वार में सूजन –कब्ज की समस्या में नियमित मलत्याग नहीं होता और मल काफी कठोर हो जाता है जिससे मलत्याग करते साथ गुदाद्वार में सूजन हो जाती है और कभी कभी स्टूल अधिक टाइट और सूखा होने के कारण गुदाद्वार से खून बहने लगता है।

2 .आंतों में सूजन –कब्ज में मल सुख जाता है जिससे उसे पास करने में आंतों को काफी प्रेशर लगाना पड़ता है और यह प्रक्रिया प्रतिदिन एवं लगातार होने से आंतों में सूजन हो जाती है जो एक बहुत बड़ी समस्या है।

3 .बवासीर होना –कब्ज में रोगियों का मल टाइट हो जाता है जिसे पास करते टाइम गुदाद्वार छिल जाता है और गुदा की नसों में सूजन हो जाती है और लगातार ऐसा ही होने से गुदा में गांठ पड़ने लगती है जो धीरे धीरे बवासीर बन जाती है।

4 .मूत्र सम्बन्धी समस्याएं –कब्ज में स्टूल का ठीक से पास न होने से यूरिन भी ठीक से पास नहीं होता हैं जिससे यूरिन इन्फेक्शन जैसे समस्या हो जाती है जो काफी खतरनाक हो सकती है।

आगे भी पढ़े –

माइग्रेन सिरदर्द के लक्षण एवं उपचार 

2 thoughts on “कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय,कब्ज क्या है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!