जोड़ों एवं घुटनों का दर्द क्या है इसे कैसे ठीक करे

आज -कल की भाग -दौड़ भरी जिंदगी में लोगों ने खूब तरक्की की। और खूब पैसा कमाया। किन्तु आप कितना भी सफल हो जाओ या लाखों रूपये कमा लो किन्तु इन कमाए गए पैसों से अच्छा स्वास्थ्य नहीं खरीद सकते अच्छा स्वास्थ्य पाने की लिए आपको अपनी दिनचर्या सुधारनी पड़ेगी। दिनचर्या खराब होने के कारण ही हमे तरह -तरह की बीमारियाँ होने लगती हैं। जिससे हम परेशान हो जाते है इन्हीं बीमारियों में से एक है। जोड़ों एवं घुटनों का दर्द यह एक ऐसा दर्द है जो ज्यादातर बढ़ती उम्र के साथ होता है किन्तु आज के समय में यह युवाओं में भी खूब देखने को मिलता है। जोड़ों एवं घुटनों का दर्द काफी असहनीय और परेशान कर देने वाला होता है। इसके कारण और निवारण जानने के लिए लेख को पूरा पढ़े।

जोड़ों एवं घुटनों का दर्द क्या है –

जोड़ों का दर्द एक आम समस्या है जो हाथ ,पैरों ,कमर,कोहनी और कूल्हे में होने वाला असहनीय दर्द है यह दर्द तेज ,कम  जलनशील या कम  ज्यादा हो सकता है ऐसे चिकित्सीय भाषा में अर्थराइटिस ,साइनोवाइटिस एवं अर्थल्जिया कहते है जोड़ो का दर्द ज्यादातर अस्थायी होता है और यह अपने आप कम हो जाता है इस रोग में हड्डियां की उपास्थि ख़तम हो जाती है और हड्डियां के जोड़ सूख जाते है जो आपस में रगड़ने लगते है जिससे जोड़ों की मांशपेशियों में सूजन एवं जोड़ों में दर्द होने लगता है  पुरुष हो या महिला यह दोनों में सामान्य रूप से पाया जाता है आबादी का लगभग 60  प्रतिशत लोग जोड़ो के दर्द से पीड़ित हैं परन्तु ज्यादातर लोग जो 40 की उम्र से ऊपर है उन लोगो में यह अधिकांश पाया जाता है जैसे -जैसे हमारी उम्र बढ़ती है यह दर्द बढ़ने लगता है जोड़ो एवं घुटनों के दर्द के कई कारण हो सकते है कुछ कारण इस प्रकार है –

जोड़ों एवं घुटनों के दर्द के कारण –

बढ़ती उम्र के साथ होने वाला जोड़ो का दर्द दिन प्रतिदिन बढ़ता जाता है जिससे लोगो को उठने एवं बैठने में काफी समस्याएं होती है यह अप्रिय दर्द के कई कारण हो सकते है कुछ महत्वपूर्ण कारण इस प्रकार है –

-जोड़ों का दर्द

-घुटने का अर्थराइटिस

-आस्टियोअर्थराइटिस

-घिसा हुआ कार्टिलेज (उपास्थि )

-जोड़ो में चोट एवं मोच

-बढ़ा हुआ वात

-ज्यादातर कम तैलीय भोजन करना

-ज्यादा फ्रिज में रखी वस्तुओ का सेवन करना

-अधिकांशतः ठंडी जगहों में रहना

-धूम्रपान एवं तम्बाकू का सेवन करना

-ज्यादा शारीरिक मेहनत या भाग दौड़ करना

-बड़ा हुआ वजन भी जोड़ों के दर्द का कारण होता है

-शरीर को सुस्त रखना

-संतुलित भोजन न लेना

जोड़ों एवं घुटनों के दर्द के लक्षण –

जोड़ों का दर्द उम्र के साथ घटता बढता रहता है उम्र दराज लोग इस समस्या से ज्यादा पीड़ित होते है परन्तु हर वो व्यक्ति जो इस समस्या से ग्रसित है उसे किसी न किसी समस्या का सामना अवश्य करना पड़ता है हम आपको जोड़ों के दर्द के कुछ कामन लक्षण बतायेगे जो इस प्रकार है –

-जोड़ो एवं घुटनों में सूजन होना

-जोड़ो की हड्डियों से रगड़ने जैसी आवाज आना

-उठने-बैठने में परेशानी होना

-सोकर उठने के बाद जोड़ो में अधिक दर्द होना एवं थोड़ी देर के लिए अंगों का जकड जाना

-थोड़ी देर तक एक ही अवस्था में बैठे रहने से जोड़ो को जकड जाना एवं मूव करने पर तेज दर्द होना

-चलते चलते जोड़ों का लॉक हो जाना

-पैरो एवं कमर को मोड़ने में परेशानी होना

-भारतीय शौचालय में बैठने में परेशानी होना

-पैरो एवं हाथों में अजीब सी झुनझुनाहट होना

-हाथ पैरों में अकडन जैसे खून की गति का रुक जाना

 

जोड़ों एवं घुटनों के दर्द से राहत के कुछ घरेलु उपाय –

आमतौर पर जोड़ों के दर्द से हमारे समाज में बहुत सारे लोग पीड़ित है कुछ लोग इसे ठीक करने के लिए कई तरह के नुस्खे अपनाते है हमने कुछ कारगर नुस्खो को इस लेख के माध्यम से बताया है जो इस प्रकार है –

सरसों के तेल के फायदे  –

सरसों का तेल हमारी भारतीय समाज में नियमित प्रयोग किया जाता है जिसके अनगिनत फायदे है सरसों का तेल जोड़ो के दर्द में हमे काफी फायदेमंद साबित होता है सरसों के तेल के गर्म करने इसकी हाथ पैरो एवं जहां भी दर्द है उस जगह मसाज करने से दर्द में आराम मिलता है क्योकि सरसों के तेल को शरीर में रगड़ने से गरमाहट पैदा होती है जिससे दर्द में राहत मिलती है  सरसों का तेल बदन दर्द को भी ठीक करता है

मसाज के फायदे –

मसाज एवं सेक हमारे आयुर्वेद में बहुत ही लाभकारी बताया गया है मसाज से हड्डियों में चिकनाहट आती है जो जोड़ों के दर्द में काफी फायदेमंद होता है यदि आप जोड़ों के दर्द से पीड़ित है तो आप अपने जोड़ों में रोजाना मसाज करे यह प्रक्रिया आप दिन में दो से तीन बार कर सकते है

सेक के फायदे –

जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए यदि आप सेक का प्रयोग करते है तो आप इससे छुटकारा पा सकते है सेक में आप कपडे को गरम करके भी सेक ले सकते है या फिर सरसों के गरम तेल में कुछ लहसुन की कच्ची कलियाँ व अजवाइन मिलाये फिर इससे जोड़ों पर किसी कॉटन के मोटे कपड़े से सिकाई करे

हल्दी चूने के लेप के फायदे –

वैसे तो हल्दी का प्रयोग हम चोट में करते है क्योकि हल्दी एंटीसैप्टिक होती है जो चोट को सही क्र दर्द से राहत दिलाती है जोड़ो एवं घुटनों के दर्द में हल्दी ,चूने को सरसों के तेल में मिलाकर अक लेप तैयार कर ले फिर इसे जोड़ो में लगाये झा भी दर्द हो इस लेप से दर्द में तुरंत राहत मिलेगी एवं नियमित प्रयोग से जोड़ो का दर्द भी ठीक हो जायेगा

एलोवेरा के फायदे –

हमारे आयुर्वेद में एलोवेराको एक औषधि के रूप में माना गया है जिसका प्रयोग हमारी फेस स्किन के लिए एवं पेट सम्बन्धी कई प्रकार की बीमारियों को ठीक करने में किया गया है उसी प्रकार जोड़ो के दर्द में भी इसको बहुत फायदेमंद माना गया है जोड़ों के दर्द में एलोवेरा का प्रयोग कुछ इस प्रकार है -एलोवेरा के पेस्ट में हल्दी मिलाकर इसका लेप करने से जोड़ो में चिकनाई आती है जिससे जोड़ों का दर्द धीरे धीरे ठीक हो जाता है

जैतून तेल के फायदे –

जैतून तेल वात नाशक होता है इसलिए जोड़ों के दर्द में यह बहुत फायदेमंद सिद्ध होता है रोजाना जैतून तेल की मालिश जोड़ों व घुटनों में करने से जोड़ों का दर्द ठीक हो जाता है तथा जैतून की जड़ को पीसकर जोड़ो में लगाने से जोड़ों की सूजन एवं दर्द से राहत मिलती है जोड़ों एवं घुटनों के दर्द में ऐसे अवश्य करे

जोड़ों के दर्द से राहत के लिए क्या खाएं –

हमने आपको ऊपर कुछ जोड़ों के दर्द से निजात पाने एवं जोड़ों के दर्द से हमेशा के लिए छुटकारा पाने के कुछ घरेलु उपाय बता दिया है जिनके साथ साथ कुछ चीजों को अगर आप भोजन एवं दिनचर्या में शामिल करते है तो ये आपको बहुत जल्द इस दर्द से छुटकारा दिला देगे जो इस प्रकार है –

-खूब पानी पिए जिससे आपकी बॉडी डिटाक्स रहे

-तेल वाली चीजे खाएं

-दूध पियें ये आपके शरीर को कैल्श्यिम प्रदान करता है जो हमारी हड्डियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है

-प्रतिदिन नियमित व्यायाम करे ये आपकी हड्डियों को मजबूत एवं गतिशील बनता है

-अगर संभव हो तो तैराकी करे ये जोड़ों के दर्द में बहुत फायदेमंद होता है

-गतिशील रहे अर्थात चाल फेर करते रहे

-अपने वजन को नियंत्रित रखे जिससे आपकी बॉडी गतिशील बनी रहे

-जोड़ों को चोट से बचाए ये दर्द को बढ़ता है

-संतुलित भोजन करे

-खाने एवं चाय में अदरक का सेवन अवश्य करे यह बहुत लाभकारी होता है

जोड़ो के दर्द में किन -किन चीजों से परहेज करे –

 जोड़ों एवं घुटनों का दर्द वात के बढ़ने के कारण होता है वात ,पित्त ,कफ़ ये तीनों हमारे शरीर के दोष है इनका बैलेंस होना बहुत जरूरी है इन तीनो में किसी अक के बढनेया घटने से हमारे शरीर में अनेकों प्रकार की बीमारियाँ घर बना लेती है यही आपके जोड़ लिंब दर्द हो रहे है तो अवश्यही आपका वाट बढ़ा हुआ है इसे कम करने के लिए यदि हम कुछ चीजों का परहेज कर ले तो इसे हम सामान्य कर सकते है जिससे हमे जोड़ों के दर्द से भी छुटकारा मिल जायेगा परहेज की जाने वाली वस्तुए कुछ इस प्रकार है –

-शुगर या चीनी खाने से बचे

-कैफीन का सेवन न करे

-धूम्रपान एवं शराब से दूरी बना ले

-रिफैन नमक का सेवन न करे

-टमाटर एवं बैगन खाने से बचे ये जोड़ो में सूजन लता है जिससे दर्द बढता है

-गठिया रोग या जोड़ो के दर्द में खट्टी चीजों के सेवन से बचे

-वजन बढ़ाने वाली चीजे बिल्कुल भी न खाएं

-ज्यादा व्यायाम या स्ट्रेचिग न करे

-आसानी से न पचने वाले भोजन का सेवन न करे जैसे- आलू ,भिन्डी ,अरबी ,सरसों का साग ,जड़ो वाली सब्जिया ,मैदे से बनी वस्तुए आदि

-कुछ दालों जैसे चना ,राजमा ,छोला ,लोबिया ,सोयाबीन आदि का भी सेवन न करे

जोड़ो के दर्द से पीड़ित लोगो की दिनचर्या कैसी हो – 

अक्सर जब तक हमारे शरीर को कोई परेशानी का आभास नहीं होता तब तक हम लोग बहुत मजे में जीते है न तो अपने स्वाथ्य और न ही अपने शरीर का ध्यान देते है पर जैसे ही हमे कोई दर्द या परेशानी होती है तो हम चिंतित हो जाते है यदि हम पहले से ही अपने स्वास्थ्य व् शरीर के प्रति सचेत रहे तो हमे कोई परेशानी ही नहीं आएगी।

यही आप जोड़ो के दर्द से प्या आपके किसी करीबी को यह समस्या है तो उसे यह दिनचर्या फॉलो करने को कहे एवं खुद भीं करे –

-सुबह कुछ देर जरूर टहले या हल्के व्यायाम करे जीसे आपके जोड़ गतिशील रहे।

-सुबह खाली पेट दो गिलास गरम या नार्मल पानी पिए जिससे आपकी बॉडी हाइड्रेट रहे।

-सुबह के नाश्ते में हल्का एवं आराम से पचने वाला आहार ले दही एवं मट्ठे का सेवन न करे ये वात को बढाते है।

-पूरा दिन लेते या एक जगह पर बैठे न रहे तोडा गतिशील रहे।

-दोपहर में परहेज वाली चीजे छोड़कर संतुलित आहार ले।

-दिन में एक या दो बार अदरक से बनी चाय भी ले।

-शाम के समय कुछ फ़ायदेमंद फलो का सेवन करे एवं रात्रि का भोजन हल्का करे।

-रात को सोने से पहले एक गिलास हल्दी दूध अवश्य ले ये आपकी हड्डियों को मजबूत रखता है।

-सर्दियों में वाट बढ़ जाता है जिससे आपको ज्यादा परहेज की जरूरत होती है।

-सर्दियों में जोड़ों में दिन में दो से तीन बार मसाज जरूर करे जिससे आपके जोड़ों को गरमाहट मिलेगी और दर्द कम होगा।

आगे भी पढ़े – माइग्रेन सिरदर्द के लक्षण एवं उपचार  ऐसे पाएं छुटकारा

                       कब्ज ठीक करने के आसान घरेलु उपाय,कब्ज क्या है।

One thought on “जोड़ों एवं घुटनों का दर्द क्या है इसे कैसे ठीक करे

  • August 31, 2021 at 5:10 am
    Permalink

    thank you

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!